6 different types of wood used to make Home furniture।। दरवाजों और घर के furniture मैं कौन सी लकड़ी इस्तमाल करनी चाहिए,

अगर आपको भी अपने घर मैं लकड़ी का काम करा रहे हैं, तो कुछ बातें आपको पता होनी चाहिए, जैसे कि अगर आप दरवाजे (door) बना रहे हैं तो आप लकड़ी की थोड़ी सी जानकारी होनी चाहिए,और अगर आप प्लाईवुड का काम करा रहे है तो प्लाईवुड मैटेरियल की जानकारी होनी चाइए, अगर आपको इन चीजों की जानकारी नही है तो आज हम आपको ये सब बातें बता देंगे,दरवाजों मैं कौन सी लकड़ी इस्तमाल करे 
सबसे पहले तो ये की आप लकड़ी के दरवाजे या खिड़कियां लगवा रहे है तो आपको लकड़ी की जरुरत होती है, लकड़ी कई परकार की होती है,

केल(white pine)

 सबसे सस्ती लकड़ी केल (pine) की होती है ये 500 rs से 850 तक मिल जाती है per cubik फीट,ये लकड़ी सफेद रंग की होती हैं,और ये काफी हल्की होती है, इसकी लाइफ ज्यादा टाइम नही होती,और ये पानी की जगा में कामयाब नही है, जैसे बाहर आपका कोई दरवाजा या खिड़की है जो बारिश के पानी के संपर्क में आती हैं तो उस जगा ये लकड़ी लगानी सही नहीं होगी, अंदर चल जायेगी अगर आपका बजट कम है और आप महिंगी लकड़ी नही लगा सकते तो आप इसका उपयोग कर सकते है, 

मरांडी (Marandi wood)

इसके बाद अति है मरांडी की लकड़ी,ये भी केल से थोड़ी अच्छी होती है, इसका रंग लाल होती है और ये भी 600 से 1000 पर cubik फीट में मिल जाती है, ज्यादा तर कारपेंटर इसी लकड़ी का उपयोग करते है ये बजट में भी रहती है और इसका रेट ज्यादा नही होता, इसकी लाइफ की बात करे तो ये पानी में चल जाति है लेकिन सिर्फ बारिश वाले पानी में, बाथरूम के दरवाजे में ये बिना रंग किए ये भी खराब हो सकती है,और आप और महिंगी लकड़ी नही लगा सकते तो आप इसका उपयोग कर सकते है,

चांप(champ wood)

इसके बाद अति है चांप की लकड़ी, इसका रंग पीला, थोड़ा हल्का हरा और सफेद,होता है ये कई परकार की होती है,इसका रेट 900 से 2000 पर cubik फीट तक होता है,इसके कई नाम है येलो चांप,ग्रीन चांप, गोल्डन चांप, संकर चांप, राहु चांप, राहु चांप और गोल्डन चांप पॉलिस के लिए इस्तमाल होती है और ये सख्त भी होती है इसमें रेशे भी  होते है जिससे पॉलिश करने से इसकी चमक बड़ जाती है,ये एक टिकायो और बरोसेमंद लकड़ी है जिसे लगाने के बाद आप को कोई पछतावा नहीं होगा,ये सागवान की लकड़ी का मुकाबला करती है,

शीशम(Rosewood)

इसके बाद आती है शीशम की लकड़ी, इसे तो तकरीबन हर कोई जानता है, इसका रंग लाल होता है कुछ भाग सफेद होता है आप सिर्फ लाली वाली लकड़ी ही लगवाए क्योंकि जो हिसा सफेद होता है बे लकड़ी कच्ची रह जाने से होता है,और उसको दीमक भी लग सकती है,इसका रेट 1000 से 2300 पर cubik फीट होता है,और इसकी लाइफ जिंदगी भर मानी जाती है , तकरीबन 100 साल तक ये खराब नहीं होगी,ये काफी सख्त लकड़ी होती हैं और ये पानी में भी खराब नहीं होगी, इसको लगने से कारपेंटर काफी दुखी होता है क्योंकि इसकी जो dust होती हैं वो जुकाम और त्वचा पर जोरदार जलन कर देती है, इसका इस्तमाल करते कारपेंटर को अपने शरीर को अच्छे से ढक लेना चाइए और आखों पर चश्मा लगाना चाहिए, 

सागवान(teak wood)

इसके बाद आती है सागवान की लकड़ी,इसे तो तकरीबन हर कोई जानता है, इसका रंग भोरा लाल होता है ये ज्यादा तर पॉलिस के लिए इस्तमाल होती है और ये सख्त भी होती है इसमें रेशे भी  होते है जिससे पॉलिश करने से इसकी चमक बड़ जाती है इसका रेट 1500 से 3000 पर cubik फीट होता है,ये ज्यादा तर असम और केरला में पाई जाती है और ये घर में बनने वाले फर्नचर सबी में इस्तमाल होती है ये सुंदर और एकदम टिकायू लकड़ी है, इसकी भी लाइफ 100+ होती है 

देवदार(Devdar wood)

इसके बाद आती है देवदार की लकड़ी, ये लकड़ी सफेद रंग की होती है इसमें थोडी सी गांठ होती है और इसमें से खुशबू काफी आती है ये ज्यादा तर हिमाचल प्रदेश, कश्मीर के इलाको में पाई जाती है इसका भी रेट 1500 से 3000 पर क्यूबिक फीट होता है,ये मंदिर, गुरद्वारे,और धार्मिक स्थल पर ज्यादा लगी मिलती है क्यों की इस लकड़ी को सुध माना जाता है,और सुगंध के कारण इसे देव लकड़ी भी कहते हैं,इसको भी पानी आदि से कोई दिक्कत नही होती,ये भी एकदम शानदार लकड़ी है, प्लाईवुड की जानकारी हम आपको अपने अगले आर्टिकल में देंगे,


आर्टिकल पूरा पड़ने के लिए धन्यवाद,अपना कीमती समय देने के लिए, आप है हमारे you tube channel से भी दरवाजे बेडरूम और लकड़ी से जुडी जानकारी ले सकते है सो एक बार चैनल जरूर देखें, लिंक निचे दिए गया है,https://www.youtube.com/c/woodworkingidea

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: